32.1 C
Chandigarh
Tuesday, October 19, 2021
HomeHindi Newsदशहरा का पर्व कल, राम-रावण का युद्ध‌ कितने दिनों तक चला था...

दशहरा का पर्व कल, राम-रावण का युद्ध‌ कितने दिनों तक चला था ? जानें रावण दहन का सही समय

Dusshera 2021 Date in India Calendar: दशहरा का पर्व हिंदू धर्म में विशेष माना गया है. पंचांग के अनुसार दशहरा का पर्व हर वर्ष आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को मनाया जाता है. कैंलेडर के अनुसार दशमी की तिथि 15 अक्टूबर को है. इसी दिन दशहरा का पर्व मनाया जाएगा. दशहरा पर रावण दहन किया जाता है. रामायण के अनुसार भगवान राम और रावण के मध्य भंयकर युद्ध हुआ था, और दशमी की तिथि पर ही भगवान राम ने अहंकारी और अत्याचारी रावण से इस धरती को मुक्त कराया था.

राम रावण का युद्ध कितने दिन चला
पौराणिक कथा के अनुसार भगवान राम और लंकापति रावध के मध्य भंयकर युद्ध हुआ था. ये युद्ध आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि से आरंभ हुआ था, और दशमी की तिथि पर भगवान राम ने रावण का वध किया था. भगवान राम और रावण के मध्य 8 दिनों तक चला था.

विजय दशमी का पर्व
दशमी की तिथि पर रावण का वध किया गया था. इसी कारण इस दिन को विजय दशमी के रूप में मनाने की परंपरा है. इस दिन को अच्छाई की, बुराई पर जीत के रूप में भी मनाया जाता है.

रावण दहन का शुभ मुहूर्त (Ravana Dahan Shubh Muhurat)
दशहरा पर रावण दहन करने की परंपरा है. 15 अक्टूबर 2021 को दशमी की तिथि पर रावध दहन किया जाएगा. रावण के साथ दशहरा पर कुंभकर्ण और मेघनाद का भी दहन किया जाता है. पंचांग के अनुसार शु्क्रवार को अभिजित मुहूर्त 11:36 बजे से 12:24 बजे तक है. इसे शुभ मुहूर्त माना गया है. रावण दहन का शुभ समय 19 बजकर 26 मिनट से 21 बजकर 22 मिनट तक उत्तम है. पंचांग के अनुसार इस दिन चंद्रमा को गोचर मकर राशि  में रहेगा. शुक्रवार को श्रवण नक्षत्र है. विशेष बात ये है कि इस दिन मकर राशि में तीन ग्रहों की युति बन रही है. इस दिन गुरु,शनि और चंद्रमा एक साथ मकर राशि में रहेंगे.

दशहरा पर पूजा मुहूर्त (Vijayadashami 2021 Dussehra Puja Date Time)
पंचांग के अनुसार 15 अक्टूबर को दोपहर 02 बजकर 02 मिनट से 02 बजकर 48 मिनट तक विजय मुहूर्त रहेगा. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार दशमी की तिथि को शुभ और मांगलिक कार्य करने के लिए भी उत्तम माना गया है. दशमी तिथि का प्रारम्भ 14 अक्टूबर 2021 को शाम 06 बजकर 52 मिनट पर और समापन 15 अक्टूबर, 2021 को शाम 06 बजकर 02 मिनट पर होगा.

यह भी पढ़ें:
Shani Dev: कैसे पता लगाएं शनि देव हैं नाराज, जीवन में यदि महसूस कर रहे हैं ये दिक्कतें तो फौरन करें शनि के उपाय

Chanakya Niti: इन चार चीजों के साथ रहने का अर्थ है कि मौत को गले लगाना, जानें आज की चाणक्य नीति

Supply hyperlink

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular