15.9 C
Chandigarh
Sunday, December 5, 2021
HomeHindi Newsउत्तर प्रदेश चुनाव: क्या साथ आएंगे अरविंद और अखिलेश? संजय सिंह से...

उत्तर प्रदेश चुनाव: क्या साथ आएंगे अरविंद और अखिलेश? संजय सिंह से मिले सपा प्रमुख

Highlights

  • लखनऊ में हुई अखिलेश और संजय सिंह की मुलाकात
  • AAP और सपा में गठबंधन को लेकर लगाए जा रहे कयास
  • कल जयंत से मिले थे अखिलेश यादव

नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश चुनाव के लिए सभी दल अपनी रणनीति बनाने में व्यस्त हैं। समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव इस बार छोटे दलों के साथ गठबंधन को प्राथमिकता दे रहे हैं। कल उन्होंने पश्चिमी यूपी में जाट बिरादरी के बीच प्रभाव रखने वाली पार्टी RLD के प्रमुख जयंत चौधरी से मुलाकात की थी। सूत्रों का कहना है कि सपा आगामी चुनाव को लेकर आम आदमी पार्टी से भी गठबंधन कर सकती है।

दरअसल आज आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने लखनऊ में सपा प्रमुख से मुलाकात की। संजय सिंह पहले भी अखिलेश यादव से मिल चुके हैं, ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि दोनों पार्टी के बीच उत्तर प्रदेश चुनाव को लेकर गठबंधन हो सकता है।

दोनों के बीच लखनऊ के जनेश्वर मिश्रा ट्रस्ट में 1 घंटे से भी लंबे समय तक मुलाकात हुई। इस मुलाकात को लेकर जब संजय सिंह से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव के साथ उत्तर प्रदेश को भाजपा से मुक्त कराने के लिए एक सामान्य मुद्दों पर रणनीतिक चर्चा हुई। गठबंधन को लेकर बातचीत तय होगी तो जानकारी दी जाएगी। सीटों को लेकर अभी कोई बात नहीं हुई है।

कृष्णा पटेल ने खोले पत्ते, किया सपा से गठबंधन का ऐलान

केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल की मां कृष्णा पटेल ने आज राजधानी लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपने पत्ते खोले। अपना दल (कमेरावादी) की राष्ट्रीय अध्यक्ष कृष्णा पटेल ने कहा कि हमने SP के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाक़ात की और हमारा गठबंधन हो गया है। हम समान विचारधाराओं के लोगों के साथ गठबंधन कर रहे हैं। बहुत जल्द हम संयुक्त मंच पर दिखाई देंगे। सीटों को लेकर अभी कोई बात नहीं हुई है। आपको बता दें कि केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल की पार्टी का भारतीय जनता पार्टी से गठबंधन है।

जयंत को मिल सकती है 35 सीटें

कल अखिलेश यादव की मुलाकात RLD चीफ जयंत चौधरी से हुई थी। सूत्रों का कहना है कि इस मीटिंग में दोनों पार्टियों के बीच सीटों के बंटवारे पर सहमति बन गई है। खबर ये है कि RLD ने 50 सीटों की डिमांड रखी थी लेकिन समाजवादी पार्टी सिर्फ 35 सीट देने पर राजी है। सूत्रों के मुताबिक, इनमे से कुछ सीटों पर समाजवादी पार्टी अपने उम्मीदवार RLD के चुनाव चिन्ह हैण्डपम्प पर उतारेगी। 

Supply hyperlink

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular